ग्वालियर / जिले की रहने वाली साताक्षी चौहान पुत्री राजेंद्र सिंह दिखित निवासी ठाटीपुर ग्वालियर को उसकी सतौली मां सुदेश दिखित ने अपनी बेटी साताक्षी को घर से बेघर कर दिया ।

शताक्षी चौहान का आरोप है की जब वह ढेड़ वर्ष की थी तभी उसकी माँ स्व.मिथलेश की अचानक मौत हो गई। मां की मौत के बाद मेरे पिता राजेन्द्र सिंह दिखित की प्रोपर्टी को देखकर मेरी सौतेली मां ने मेरे पिता को अपने प्रेम जाल में फंसा कर आगरा के एक मन्दिर में शादी रचा ली थी और खुद मालकिन बनकर बैठ गई शताक्षी चौहान का आरोप है कि मेरी सौतेली मां का किसी दूसरे व्यक्ति से प्रेम प्रसंग चल रहा था जब मैं हाई स्कूल में पढ़ रही थी तो मेरी उम्र 15 वर्ष की थी तभी मेरी माँ ने मेरी जबरन शादी करा दी जो कानूनी तौर से अवैध थी क्योंकि नाबालिक अवस्था में शादी करना अपराध की श्रेणी में आता है। यह षड्यंत्र मेरी सौतेली मां ने इसलिए किया की उनको मुझसे छुटकारा मिल सके कारण यह था की मैं उनके कार्यों में बाधा न बन सकूं। मेरी शादी के कुछ सालों बाद मेरी माँ सुदेश दिखित ने मेरे पिता से जबरन प्रोपर्टी अपने नाम करा ली और कुछ समय बाद तलाक ले लिया । इसका कारण अपनी मन मर्जी से अवैध कार्य कर सके शताक्षी ने बताया कि हिन्दू उत्तराधिकार अधिनियम के तहत पिता की पैतृक संपत्ति में बेटे बेटियों का बराबरी का हिस्सा देने का प्रावधान है इसके

अनुसार कानूनी होने के नाते पिता की संपत्ति पर बेटी का भी उतना ही अधिकार है जितना बेटे का होता है बेटी की शादी से इसका कोई लेना देना नही होता है अगर पिता की मृत्यु भी हो जाती है तो भी उसकी बेटियों को संपत्ति का बराबर हिस्सा मिलेगा प्रॉपर्टी चाहे पिता द्रारा खरीदी गई हो या पैतृक हो कानून के मुताबिक बेटी हो या बेटा दोनो का जन्म से अधिकार होता है वही किसी एक के नाम वसीयत नही करा सकता है
मेरे पिता की मौत होने पर जब मेरे द्रारा जानकारी ली गई तो पता चला कि मेरी माँ सुदेश दिखित ने मेरे पिता से प्रोपर्टी जबरन अपने नाम करा ली मेरी माँ अबैध प्रकार के कार्यो मैं भी लिप्त है पुलिस द्रारा 2019 मैं वायु नगर गेस्ट हाउस द ग्रेट सम्राट दिखित पर छापा मारकर कार्यवाही की गई थी फिर उसमें कोई सुधार नही हुआ मेरी माँ मुझे आये दिन मेरे बच्चों को व मुझे उठा ले जाने और जान से मारने की धमकियां देती रहती है मेरे पति बाहर रहते है मेरी मां ने मुझे बहुत परेशान कर रखा है । शताक्षी ने सरकार से और जिला प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।