लखनऊ  /  पीएम नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट “स्टार्ट अप इंडिया” और यूपी के सीएम योगी आदित्यानाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट “ओडीओपी” (वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट) जैसे कार्यक्रमों से प्रभावित होकर अमेरिका में रह रहे भारतीय ओसीआई कमलेश द्विवेदी ने इनमें आने वाले नए उद्धमियों को हर संभव मदद देने का फैसला किया है। अमेरिका से लखनऊ आकर अपने नए प्रोजेक्ट “मेंटॉरबाबा” की लांचिंग के मौके पर भारतीय ओसीआई कमलेश द्विवेदी ने मीडिया से विस्तार से की।
कमलेश द्विवेदी ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी जी के अमेरिका दौरे के दौरान उन्होंने कई बार उन्हें सुना। भारत में चल रही योजनाओं और उनमें अमेरिका में रह रहे भारतीयों से पीएम मोदी की मदद की अपील के बाद उन्हें लगा कि वो अपने देश के लिए कुछ बड़ा सोचे ताकि यहां पर उसका फायदा ज़्यादातर लोग खासकर युवा उठा सकें। इसके बाद उन्होंने देश में चल रही कई योजनाओं की स्टडी की। इनमें “स्टार्ट अप इंडिया” उन्हें काफी समझ में आई।


वहीं पिछले साल अपने पुराने संस्थान आईआईटी कानपुर में एक कार्यक्रम के सिलसिले में आना हुआ। इस कार्यक्रम में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जी से उनकी मुलाकात हुई। कार्यक्रम में सीएम योगी जी ने ओडीओपी प्रोजेक्ट के बारे में विस्तार से जानकारी दी और इनमें मदद करने की अपील की। यूपी सरकार का ये प्रोजेक्ट ओडीओपी काफी सराहनीय प्रयास है। इससे प्रदेश के सभी ज़िले विकास की रफ्तार पकड़ सकेंगे। ओडीओपी प्रोजेक्ट में हम नये प्रोजेक्ट लगाने वालों की पूरी मदद करने का प्रयास करेंगे।
कमलेश द्विवेदी ने बताया कि “स्टार्ट अप इंडिया” और “ओडीओपी” प्रोजेक्ट ऐसे लोगों खासकर युवाओं के लिए है जो नए प्रोजेक्ट स्टार्ट करना चाहते हैं। ऐसे में उन्हें प्रोजेक्ट कैसे शुरु करना है, कौन सा स्थान उसके लिए बेहतर होगा और वित्तीय समस्याओं का निपटारा कैसे हो। इन सभी बातों को एक प्लेटफार्म पर साल्यूशन हम अपने नये प्रोजेक्ट “मेंटॉरबाबा” के तहत उपलब्ध कराएंगे। इसके लिए हम ऑनलाइन और ऑफलाइन सेवाओं के साथ एक्सपर्ट की टीम को अपने साथ जोड़ेंगे और लोगों की मदद करेंगे।
प्रोजेक्ट “मेंटॉरबाबा” में भारतीय ओसीआई कमलेश द्विवेदी चेयरमैन एंड मेंटार-इन-चीफ हैं। वहीं सबसे खास बात ये है कि “मेंटॉरबाबा” प्रोजेक्ट को युवाओं की टीम देखेगी। इनमें कई कंपनियों में अपनी सेवा दे चुके और बाइब्रेंट गुजरात कार्यक्रम में भाग ले चुके युवा अदनान अहमद अब्बासी को कंपनी का सीईओ एंड को-फाउंडर बनाया गया
है ।कमलेश द्विवेदी- एक सक्षिप्त परिचय कमलेश द्विवेदी ने आईआईटी कानपुर से बीटेक किया उसके बाद हार्वर्ड बिजनेस से प्रोग्राम फॉर मैनेजमेंट डेवेलपमेंट (PMD) किया। इसके बाद वो कई कंपनियों में बतौर चीफ इनफारमेंशन आफिसर और इंफारमेंशन एक्ज़ीक्यूटिव रहे। अमेरिका, जापान समेत कई देशों में वो अपनी सेवाओं दे चुके हैं।