मऊ / राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अर्न्तगत “किशोर स्वास्थ्य मंच” का प्रथम आयोजन जिले में 17 फरवरी एवं दूसरा आयोजन 20 फरवरी को किया जाएगा । इस सम्बंध में मऊ जिले के सभी 09 ब्लॉकों एवं शहरी क्षेत्रों में दो तिथियों पर विभिन्न इण्टर कॉलेजों में कराये जाने का निर्देश दिया गया है। इसके संदर्भ में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय सभागार में सभी सहयोगी विभागों के साथ सीएमओ डॉ एस.सी सिंह की अध्यक्षता में संयुक्त बैठक हुई।


सीएमओ ने बैठक में बताया कि मार्च 2020 से कोविड-19 के कारण लॉकडॉउन के दिशा-निर्देशों के अनुसार विद्यालय बन्द चल रहे थे। वर्तमान में कक्षा-9 से कक्षा-12 तक के विद्यालय को लॉकडाउन के बाद पुनः संचालित किए जा रहे हैं । शासन के निर्देश के बाद किशोर स्वास्थ्य मंच का आयोजन शिक्षा विभाग के समन्वय से आयोजित कराया जाना सुनिश्चित है। इन गतिविधियों के दौरान कोविड प्रोटोकॉल एवं सोशल डिस्टेन्सिंग इत्यादि का अनुपालन भी किया जाएगा ।सीएमओ ने निर्देशित किया कि ब्लॉक प्रभारी चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्व में स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी, ब्लॉक कार्यक्रम प्रबन्धक, ब्लॉक कम्यूनिटी प्रोसेस मैनेजर, आरबीएसके टीम, काउन्सलर (लेप्रोसी, टीबी, टोबैकों, संचारी/ गैर संचारी इत्यादि), लैब टेक्निशियन/लैब एसिस्टेन्ट तथा गैर सरकारी संगठन के समन्वय से चयनित इण्टर कॉलेज के प्रधानाचार्य/नोडल टीचर के सहयोग से विद्यालय के समयानुसार सुबह 10 बजे से 2 बजे तक कार्यक्रम का आयोजन किया जाए। जिला महिला/पुरूष

चिकित्सालयों/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में तैनात किशोर स्वास्थ्य काउन्सलर/अन्य काउन्सलर का आवश्यक सहयोग शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजित मंच में अनिवार्य रूप से लिया जाये।बैठक में एसीएमओ एवं नोडल अधिकारी डॉ बीके यादव ने बताया कि शहरी क्षेत्रों में कार्यक्रम के आयोजन का उत्तरदायित्व जनपदीय नगरीय स्वास्थ्य समन्वयक (अर्बन हेल्थ कोऑर्डिनेटर) का होगा। इसके लिए जनपद में स्थापित नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रभारी को शहरी ब्लॉक का नोडल नामित किया गया है। “किशोर स्वास्थ्य मंच” से पहले निम्न तैयारियां सुनिश्चित की जाए, प्रत्येक ब्लॉक/शहरी क्षेत्र में संबंधित विद्यालयों के प्रधानाचार्यों से संपर्क कर कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देना है। किशोर स्वास्थ्य सम्बन्धी प्रचार प्रसार सामग्री पैम्फप्लेट की प्रिन्टिंग, क्विज प्रतियोगिता के लिए चार्ट पोस्टर से सांवेदिकरण कर, उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले युवाओं को पुरस्कृत किया जाये। अध्यापकों स्कूल प्रशासन द्वारा छात्रों को निश्चित दिन पर विद्यालय में अवश्य उपस्थित होने की सूचना देना

अधिकाधिक अभिभावकों को भी मंच में छात्रों के उत्साहवर्धन के लिए आमंत्रित किया जाये। प्रत्येक ब्लॉक / शहरी क्षेत्र में मंच का उद्घाटन किसी जन प्रतिनिधि/जनपद स्तरीय से कराया जाये।बैठक में शिक्षा विभाग के चद्र्प्रकाश श्रीवास्तव जिला समन्वयक, आईसीडीएस से प्रभारी सीडीपीओ पानमती देवी, डीसीपीएम संतोष सिंह, डीईआईसी मैनेजर अरविद वर्मा, आरबीएसके के 18 टीमों के सभी टीम लीडर समेत सभी कालेजों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।