अनीश शाक्य की रिपोर्ट

*पांच बर्ष के बाद आईटीआई में शुरु होगी कक्षाएं*

*- तत्कालीन राज्यमंत्री की पहल पर शुरु हुआ था निर्माण*

*भोगांव/मैनपुरी कस्बा में निर्माणाधीन औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के नवीन भवन में पांच साल बाद कक्षाएं संचालित होने की उम्मीद है। शासन से बजट मिलने के बाद निर्माण कार्य तेज हो गया है। अगस्त तक कार्यदायी संस्था ने निर्माण कार्य पूरा करने की बात कही है। इसके बाद कक्षाओं का संचालन शुरू हो जाएगा।


गौरतलव है कि सपा सरकार में भोगांव विधानसभा से तत्कालीन राज्यमंत्री आलोक शाक्य ने तहसील में राजकीय आईटीआई के लिए पहल की थी। उनकी पहल पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के निर्माण को मंजूरी दी थी। वर्ष 2016 में कार्यदायी संस्था को निर्माण की जिम्मेदारी दी गई। जीटी रोड पर गांव नौरंगाबाद के पास ग्रामसभा की जमीन पर निर्माण शुरू किया गया। आईटीआई के भवन और वर्कशॉप के निर्माण के लिए सात करोड़ का बजट तय था। सपा सरकार में तेजी के साथ काम शुरू हुआ। 4.16 की धनराशि से भवन निर्माण का काम आधे से ज्यादा पूरा हो गया। इस दौरान राजकीय आईटीआई भोगांव के नाम पर दो वर्ष पूर्व छात्रों को प्रवेश भी दिए गए लेकिन कक्षाओं का संचालन शहर शुरु किया गया। इस कारण छात्रों को 15 किलोमीटर दूर जाना पड़ता है।

गत बर्ष शुरु हुआ काम
अब भाजपा शासन में शेष बजट मिलने के बाद अक्टूबर 2020 से एक बार फिर काम शुरू हो गया। कार्यदायी संस्था तेजी से अगस्त तक कार्य पूरा करने की बात कह रही है। वर्तमान में केवल भवन की फिनिशिंग और सड़क निर्माण का काम ही शेष है। ऐसे में जल्द कार्य पूर्ण होने की उम्मीद है। कार्य पूरा होने के बाद यहां कक्षाओं का संचालन शुरू होगा। इससे क्षेत्र के छात्रों के लाभ होगा।सुपरवाइजर निर्माण निगम अनुज कुमार ने बताया आईटीआई के भवन निर्माण का काम लगभग पूरा हो चुका है। भवन की फिनिशिंग का काम शेष है। जीटी रोड से आईटीआई तक के लिए सड़क बननी है। यह सभी कार्य दो महीने में पूरे कर लिए जाएंगे।