लखनऊ से शिवम मिश्रा की रिर्पोट ,

*प्रतापगढ़: मिलावटी शराब से 7 की मौत,*
*इंस्पेक्टर, दरोगा, आबकारी निरीक्षक समेत सात पर गिरी गाज,*
*शराब माफिया सहित 5 गिरफ्तार,*

प्रतापगढ़। उत्तर प्रदेश में प्रतापगढ़ के उदयपुर क्षेत्र में मिलावटी शराब के सेवन से मरने वालों की तादाद बढ़ कर सात हो गयी है। इस मामले में प्रथम दृष्टया लापरवाही बरतने के आरोप में थाना इंचार्ज समेत चार पुलिस वालों को निलंबित कर दिया गया है।
पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने गुरूवार को बताया कि मिलावटी शराब पीने से गम्भीर रूप से बीमार तीन लोगों का इलाज चल रहा है। इस मामले में थाना प्रभारी उदयपुर, एक हल्का दरोगा, एक कांस्टेबल और आबकारी इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया गया है।
इस मामले शराब माफिया डब्बू सिंह समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया ह


उधर, पुलिस ने कोहंडौर क्षेत्र में एक ट्रक से 700 किलो गांजा बरामद कर छह लोगो को गिरफ्तार किया है जबकि हथिगवां क्षेत्र से एक मिनी ट्रक में लदी लाखो रुपए कीमत की 300 पेटी अवैध शराब बरामद की गई है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि होली के मौके पर मंगलवार रात कटरिया गांव में एक दावत में प्रदीप (35), उसके भाई दिलीप (50), मामा सिद्ध नाथ (70) और आहर बीहर निवासी राम कुमार प्रजापति (35) समेत कम से कम दस लोगो ने मिलावटी शराब पी थी। शराब पीने के बाद सभी की तबीयत बिगड़ने लगी। परिजनों ने उन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां चार की बुधवार को मौत हो गयी जबकि तीन ने बुधवार और गुरूवार की रात दम तोड़ दिया। इसके पहले भी प्रतापगढ़ जिले में पिछले माह मिलावटी शराब पीने से कई लोगों की मृत्यु हो गई थी।