रविवार को छोड़कर शेष दिन होगा कोविड का टीकाकरण
– मेडिकल कॉलेज सहित 109 केंद्रों पर है टीकाकरण की व्यवस्था
बस्ती, 5 अप्रैल 2021
रविवार को छोड़कर सप्ताह के शेष छह दिन कोविड का टीकाकरण होगा। सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक टीका लगाने का समय निर्धारित किया गया है। मेडिकल कॉलेज सहित 109 केंद्रों पर टीकाकरण की व्यवस्था है।


जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एफ हुसैन ने बताया कि प्रदेश सरकार की गाइड लाइन के अनुसार रविवार को छोड़कर शेष छह दिन नियमित रूप से कोविड टीकाकरण होगा। इन छह दिनों में राजपत्रित अवकाश होने की स्थिति में भी टीकाकरण केंद्रों का संचालन किया जाएगा। पिछले रविवार को जिला व महिला अस्पताल के टीकाकरण केंद्रों पर काफी संख्या में लोग टीका लगवाने पहुंच गए थे। टीका लगाने वाले लोगों को काफी परेशान होना पड़ा था। वह लोग टीका लगवाने के लिए अस्पताल दर अस्पताल भटकते भी रहे।
डॉ. हुसैन ने बताया कि पहली अप्रैल से 45 साल की उम्र पार कर चुके सामान्य लोगों को टीका लगाने का पुनरीक्षित कोविड टीकाकरण कार्यक्रम शुरू किया गया है। वर्तमान में प्रदेश में कोविड मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इसे देखते हुए कोविड टीकाकरण का कवरेज बढ़ाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। कवरेज बढ़ाकर ही कोविड के फैलाव को रोका जा सकता है। इसे देखते शासन ने 30 अप्रैल तक रविवार के अतिरिक्त सप्ताह के छह दिन टीकाकरण कार्य संचालित करने का निर्णय लिया है। इन दिनों में कोविड वैक्सीनेशन सेंटर (पीएचसी व हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर सहित) व प्राइवेट कोविड वैक्सीनेशन सेंटर अवकाश के दिन भी खुले रहेंगे। टीकाकरण सेंटर का शत प्रतिशत उपयोग करके टीकाकरण की संख्या बढ़ाई जाएगी।
सीएमओ डॉ. अनूप कुमार ने बताया कि स्टेट की गाइड लाइन के अनुसार सप्ताह में छह दिन टीकाकरण किया जा रहा है। लोगों को चाहिए कि वह प्री रजिस्ट्रेशन कराकर निकटतम केंद्र पर पहुंचकर टीका लगवाएं।

शेष सीनियर सिटीजन जरूर लगवाएं टीका
हेल्थ व फ्रंट लाइन वर्कर्स के बाद सीनियर सिटीजन व 45 साल के कोमार्बिड अर्थात बीपी, शुगर, आदि के मरीज को तीसरे चरण में टीकाकरण शुरू किया गया। इनके टीकाकरण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। कोरोना से सबसे ज्यादा खतरा इन लोगों के लिए रहता है। टीकाकरण केंद्र पर इन लोगों को टीका लगाया जा रहा है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. एफ हुसैन ने बताया कि 45 साल वालों के साथ ही सीनियर सिटीजन को भी टीका लगाया जा रहा है।