अलीम खान की रिपोर्ट,

अमेठी  / जिलाधिकारी अरुण कुमार ने आज जिला संयुक्त चिकित्सालय गौरीगंज में कोविड जांच हेतु स्थापित की जा रही आरटी-पीसीआर लैब तथा ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट का स्थलीय निरीक्षण कर समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर लैब तथा प्लांट शीघ्र संचालित करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिये। जिलाधिकारी ने आरटी-पीसीआर लैब के निरीक्षण के दौरान लैब में आवश्यक उपकरण, टेस्टिंग मशीन, स्टाफ की तैनाती इत्यादि

के संबंध में जानकारी ली, जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दुबे ने बताया कि टेस्टिंग मशीन लखनऊ से आज आ रही है तथा लैब में अन्य उपकरण के साथ ही स्टाफ की तैनाती कर दी गई है, एक सप्ताह के अंदर लैब संचालित हो जाएगी। उन्होंने बताया कि शुरुआत में मशीन टेस्ट रन पर चलेगी जिसमें प्रतिदिन 50 से 100 सैंपल टेस्ट किए जाएंगे, इसके पश्चात धीरे-धीरे आवश्यकतानुसार टेस्टिंग की क्षमता बढ़ाई जाएगी। इसके उपरांत जिलाधिकारी ने चिकित्सालय परिसर में आदित्य बिरला ग्रुप द्वारा 100 सिलेंडर प्रतिदिन ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता वाला ऑक्सीजन जनरेसन प्लांट का निरीक्षण किया एवं संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस दौरान जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को ऑक्सीजन प्लांट स्थापना के कार्य में तेजी लाते हुए एक सप्ताह के अंदर प्लांट स्थापित कर संचालित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट संचालित होने के उपरांत कोविड मरीजों हेतु स्थापित किए गए 100 बेड में ऑक्सीजन का कनेक्शन दिया जाए। जिलाधिकारी ने बताया कि लैब के संचालित होने से जनपद में ही कोविड टेस्ट की सुविधा उपलब्ध रहेगी, इसके अतिरिक्त उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में सभी संसाधन उपलब्ध होने से जनपद वासियों को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी डॉ अंकुर लाठर, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आशुतोष दूबे, जिला अस्पताल के प्रभारी अधीक्षक डॉ पी0के0 उपाध्याय सहित अन्य संबंधित मौजूद रहे।