डॉ शशि कांत सुमन
पटना। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने चाचा को उसके संसदीय क्षेत्र में ही पटकने का ऐलान कर दिया है। इसके साथ राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में चाचा पारस को औकाद भी दिखा दी। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान अपने पिता लोजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान के जन्मदिन पांच जुलाई से बिहार में आशीर्वाद यात्रा शुरू करने का ऐलान भी कर दिया है। यात्रा

की शुरुआत रामविलास पासवान की कर्मभूमि और वर्तमान में पशुपति कुमार पारस के संसदीय क्षेत्र हाजीपुर से होगी। यात्रा राज्यभर में डेढ़ महीने तक चलेगी और पटना में पार्टी की नेशनल काउंसिल की बैठक के साथ खत्म होगी। दिल्ली में रविवार को लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद चिराग ने यह घोषणा की। इसके पहले बैठक में कार्यकारिणी ने दो साल पहले चुने गये राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान में आस्था व्यक्त की। साथ ही एक प्रस्ताव पारित कर पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्व. रामविलास पासवान के 50 वर्षो के राष्ट्रहित में किये गये कार्यो को देखते हुए उन्हें भारत रत्न देने की मांग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से की गई। पार्टी ने एक अन्य प्रस्ताव में पशुपति कुमार पारस द्वारा की गई अब तक की घोषणाओं को असंवैधानिक और देश को गुमराह करने वाला बताया। बैठक के बाद चिराग ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि पिता की मृत्यु के दिन नहीं, बल्कि मैं उस दिन अनाथ हो गया जिस दिन गोद में खेलाने वाले मेरे चाचा ने मेरे से हाथ खींच लिया। अब मां का आशीर्वाद लेकर एक नये जंग की शुरुआत करूंगा। जंग के पहले दौर में जनता से आशीर्वाद लेने बिहार जाऊंगा। पांच जुलाई से आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत करूंगा। चिराग ने दावा किया उनकी बैठक में 90 प्रतिशत कार्यकारिणी के सदस्य उपस्थित थे। दिल्ली और जम्मू कश्मीर को छोड़कर सभी राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष मौजूद थे। नार्थ-इस्ट के कुछ प्रदेश अध्यक्ष बैठक में वर्चुअल जुड़े थे। एक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष छोड़ सभी के अध्यक्ष भी बैठक में थे। मेरे पास विडियो है। चाचा चाहे तो मैं सार्वजनिक कर दूंगा। लेकिन उन्हें भी बताना चाहिए कि उनकी बैठक में कौन-कौन लोग उपस्थित थे। कोरम पूरा करने के लिए भी तीस कार्यकसमिति सदस्यों की जरूरत होती है। उनकी बैठक में मात्र नौ उपस्थित थे। बैठक में कोराना से मृत लोगों के प्रति संवदेना प्रकट की गई और हर व्यक्ति से टीका लेने की अपील की गई। पार्टी ने अपने कार्यकर्ताओं से भी अनुरोध किया कि लोगों को टीका लेने के लिए जागरूक करें।