🔴बस्ती। परिवार नियोजन के साधन आम लोगों तक सुलभ कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में स्वास्थ्य इकाइयों पर कंडोम पेटिका लगाई गई है। मेडिकल स्टोर से इसे खरीदने में अक्सर लोग हिचक महसूस करते हैं। ऐसे लोग बिना किसी झिझक व बिना किसी खर्च के अस्पताल से इसे नि:शुल्क हासिल कर सकते हैं। विभाग का कहना है कि इसके इस्तेमाल से महिलाओं को अनचाहे गर्भ से छुटकारा मिल सकेगा।
एसीएमओ आरसीएच डॉ. सीके वर्मा का कहना है कि परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों में कंडोम काफी लोकप्रिय व आसान साधन है। लोगों की सुविधा को देखते हुए सभी स्वास्थ्य इकाइयों पर इसकी उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश है। कंडोम पेटिका को ऐसी जगह लगाया जाता है, जहां पर सभी की नजर पड़ सके। इसके खाली होते ही कर्मी दोबारा इसे भर देते हैं। जिला व महिला अस्पताल के अलावा सभी 14 ब्लॉक स्तरीय अस्पताल, 39 पीएचसी व 173 स्वास्थ्य उपकेंद्र पर यह सुविधा मुहैया है।
रामनगर ब्लॉक अंतर्गत सीएचसी भानपुर के ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर स्वामीनाथ ने बताया कि अस्पताल के मुख्य गेट के बगल में बॉक्स लगा है। इस समय दो से तीन दिन में लगभग 200 पैकेट की खपत हो जा रही है। पहले की अपेक्षा अब लोगों में जागरूकता बढ़ी है। प्रसव केंद्रों पर भी सुविधा उपलब्ध है।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. चंद्रशेखर का कहना है कि गर्भावस्था को रोकने के साथ ही संक्रमण को रोकने में भी कंडोम का इस्तेमाल मददगार है। आम लोगों तक इसे सुलभ कराने के लिए स्वास्थ्य इकाईयों पर कंडोम पेटिका लगाई गई है। जनपद में वित्तीय वर्ष 2021 -22 में कंडोम की खपत 4.46 लाख रही। 90 प्रतिशत तक यह परिवार नियोजन के लिए सुरक्षित है

यह है मुख्य लाभ
– बीस वर्ष से पहले यानि किशोर गर्भावस्था से बचाव
– अनचाहे गर्भ से बचाव
– दो बच्चों के जन्म के बीच अंतर रखने में सहायक
– उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था से बचाव
– मातृ एवं शिशु मृत्यु दर कम करने में सहायक
– यौन संचारित रोग से बचाव